! !

शुक्रवार, जुलाई 8

मां भगयाणी मन्दिर हरिपुर धार



ज़िला सिरमौर के हरिपुरधार में स्थित मां भगयाणी मन्दिर समुद्रतल से आठ हज़ार की ऊंचाई पर बनाया गया है! यह मन्दिर उतरी भारत का प्रसिद्ध मन्दिर है! यह मन्दिर कई दशकों से श्रद्धालुओं की आस्था का केन्द्र बना हुअ है! वैसे तो यहां वर्ष भर भक्तों का आगमन रहता है परन्तु नवरात्रों और संक्राति में भक्तों की ज्यादा श्रद्धा रहती है! इसका पौराणिक इतिहास श्रीगुल महादेव से की दिल्ली यात्रा से जुडा है जहां तत्कालीन शासक ने उन्हे उनकी दिव्यशक्तियों के कारण चमडे की बेडियों में बांध बन्दी बना लिया था और दर्वार में कार्यरत माता भगयाणी ने श्रीगुल को आज़ाद करने में सहायता की थी! इस कारण श्रीगुल ने माता भगयाणी को अपनी धरम बहन बनाया और हरिपुरधार मेंस्थान प्रदान कर सर्वशक्तिमान का वरदान दिया! आपार प्राकृतिक सुन्दरता के मध्य बना यह मन्दिर आस्था का प्रमुख स्थल है!  बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं के लिये मन्दिर समिति ने ठहरने का प्रबन्ध किया हुआ है! हरिपुरधार  शिमला से वाया सोलन राजगढ एक सौ पचास किलोमीटर दूर है! जबकि चण्डीगढ से १७५ किलोमीटर है! हरिपुरधार के लिये देहरादून से भी यात्रा की जा सकती है!

4 COMMENTS:

aarkay on 16 जुलाई 2011 को 12:18 pm ने कहा… Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

सरकारी काम काज के सिलसिले में हरिपुरधार से दो बार गुज़रना हुआ और दोनों बार ही माँ भगयानी के मंदिर में जा कर दर्शन किये. ऊंचाई पर होने के कारण, मंदिर के आस पास का दृश्य वास्तव में बहुत ही मनोरम है . लोगों की इस देवी के प्रति गहन आस्था है, साथ ही बहुत संख्या में लोग, घरेलु या पारिवारिक समस्याओं से निजात पाने के लिए, पंडित जी को जन्मपत्री दिखाने और पूछ आदि के लिए भी आते हैं. गत ५-६ वर्ष पूर्व की याद ताज़ा हो आई !

आभार !

aarkay on 16 जुलाई 2011 को 5:03 pm ने कहा… Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

सरकारी काम काज के सिलसिले में हरिपुरधार से दो बार गुज़रना हुआ और दोनों बार ही माँ भगयानी के मंदिर में जा कर दर्शन किये. ऊंचाई पर होने के कारण, मंदिर के आस पास का दृश्य वास्तव में बहुत ही मनोरम है . लोगों की इस देवी के प्रति गहन आस्था है, साथ ही बहुत संख्या में लोग, घरेलु या पारिवारिक समस्याओं से निजात पाने के लिए, पंडित जी को जन्मपत्री दिखाने और पूछ आदि के लिए भी आते हैं. गत ५-६ वर्ष पूर्व की याद ताज़ा हो आई !

आभार !

aarkay on 16 जुलाई 2011 को 9:27 pm ने कहा… Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

I am not able to post my comments on your blog . It simply does not come through ! What am I to do ?

H S Consultants on 11 अगस्त 2011 को 4:14 pm ने कहा… Best Blogger Tips[Reply to comment]Best Blogger Templates

If you want to see the mind blowing article with real facts and figures, this has really tremendous impacts on readers.


Education Consultants karachi

एक टिप्पणी भेजें

" आधारशिला " के पाठक और टिप्पणीकार के रूप में आपका स्वागत है ! आपके सुझाव और स्नेहाशिर्वाद से मुझे प्रोत्साहन मिलता है ! एक बार पुन: आपका आभार !

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

लेखा जोखा



आपके पधारने के लियें धन्यवाद Free Hit Counters

Creative Commons License
This work is licensed under a Creative Commons Attribution-NonCommercial-NoDerivs 3.0 Unported License.
 
ब्लोगवाणी ! चिठाजगत ! INDIBLOGGER ! BLOGCATALOG ! हिंदी लोक ! NetworkedBlogs ! INDLI ! VOICE OF INDIANS हिंदी टिप्स ! हिमधारा ! ऐसी वाणी बोलिए ! हिमाचली ब्लोगर्स ! हिंदी ब्लोगों की जीवनधारा ! ब्लोगर्स ट्रिक्स !

© : आधारशिला ! THEME: Revolution Two Church theme BY : Brian Gardner Blog Skins ! POWERED BY : blogger